प्रतापगढ़ / छोटीसादड़ी - रोडवेज ने बंद की बसें, लोग परेशान, 130 किलोमीटर के मार्ग पर प्राइवेट बसों में सफर करने के लिए मजबूर
हर खबर की विश्वसनीयता का आधार " सीधा सवाल ", 10 हजार से अधिक डाउनलोड के लिए सभी का आभार। सूचना, समाचार एवं विज्ञापन के लिए संपर्क करे - 9602275899, 9413256933

चितौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - बैठक के बाद थमा रास्ते का विवाद, वंडर सीमेंट प्रबंधन ने ग्रामीणों पर डाली जिम्मेदारी

  • बड़ी खबर

चित्तौड़गढ़ / निम्बाहेड़ा - धिनवा में हुई भीषण दुर्घटना में एक युवक की मौत, दो गंभीर घायल, किया रेफर

  • बड़ी खबर

चितौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - वंडर सीमेंट के संपर्क मार्ग को बंद करने की तैयारी, ग्रामीणों का आक्रोश

  • बड़ी खबर

चित्तौड़गढ़ - राजनीति का अखाड़ा बनी चित्तौड़ डेयरी में खींचतान, बोर्ड बैठक का बहिष्कार

  • बड़ी खबर
प्रमुख खबरे
* चितौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - बैठक के बाद थमा रास्ते का विवाद, वंडर सीमेंट प्रबंधन ने ग्रामीणों पर डाली जिम्मेदारी * चित्तौड़गढ़ / निम्बाहेड़ा - धिनवा में हुई भीषण दुर्घटना में एक युवक की मौत, दो गंभीर घायल, किया रेफर * चितौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - वंडर सीमेंट के संपर्क मार्ग को बंद करने की तैयारी, ग्रामीणों का आक्रोश * चित्तौड़गढ़ - राजनीति का अखाड़ा बनी चित्तौड़ डेयरी में खींचतान, बोर्ड बैठक का बहिष्कार * चित्तौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - चारागाह भूमि का गलत आवंटन, कार्यवाही का इंतजार... तत्कालीन उपखंड अधिकारी, तहसीलदार सहित अन्य लोग दोषी, उच्च न्यायालय के आदेश पर बनी कमेटी की रिपोर्ट * प्रतापगढ़ / छोटीसादड़ी - तीन लाख की लूट का मामला, जावद पुलिस ने छोटीसादड़ी के दो आरोपी को गिरफ्तार, लूट की रकम और बाइक जब्त * चित्तौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - ट्रेन की चपेट में आने से दो महिलाओं सहित तीन की मौत, देवरे पर धोक देकर आ रहे थे * सुपर फास्ट ट्रेन की चपेट में आने से दो महिलाओं सहित तीन की मौत * चित्तौड़गढ़ - अभय कंडारा की मौत का मामला, पांच महिलाओं सहित नो गिरफ्तार * चित्तौड़गढ़ - निंबाहेड़ा के लक्ष्मीपुरा से नारकोटिक्स नीमच ने पकड़ा लाखों का डोडा चूरा * प्रतापगढ़ / छोटीसादड़ी - नाले की भूमि पर अवैध निर्माण का मामला, संभागीय आयुक्त को हुई शिकायत * चित्तौड़गढ़ / निम्बाहेड़ा - एमपी के उज्जैन पुलिस की कार्रवाई सटोरिया से 15 करोड रुपए कैश जप्त , निंबाहेड़ा का एक आरोपी भी गिरफ्तार * चित्तौड़गढ़ - लापरवाही.... जिंदगी की रेस में फेल, लेकिन लाइसेंस बनाने में 'सिस्टम' का दुरुपयोग, 95 प्रतिशत हो रहे पास * चित्तौड़गढ़ / बड़ीसादड़ी - तालाब में मिट्टी का अवैध खनन, नगर पालिका ने नहीं दिया ठेका, उपखंड अधिकारी ने शुरू की जांच * चित्तौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - साहब जी झूठ तो मत बोलो ! तहसील कार्यालय से लोगों को मिल रही गलत सूचना
हर खबर की विश्वसनीयता का आधार " सीधा सवाल ", 10 हजार से अधिक डाउनलोड के लिए सभी का आभार। सूचना, समाचार एवं विज्ञापन के लिए संपर्क करे - 9602275899, 9413256933
प्रमुख खबरे
* चितौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - बैठक के बाद थमा रास्ते का विवाद, वंडर सीमेंट प्रबंधन ने ग्रामीणों पर डाली जिम्मेदारी * चित्तौड़गढ़ / निम्बाहेड़ा - धिनवा में हुई भीषण दुर्घटना में एक युवक की मौत, दो गंभीर घायल, किया रेफर * चितौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - वंडर सीमेंट के संपर्क मार्ग को बंद करने की तैयारी, ग्रामीणों का आक्रोश * चित्तौड़गढ़ - राजनीति का अखाड़ा बनी चित्तौड़ डेयरी में खींचतान, बोर्ड बैठक का बहिष्कार * चित्तौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - चारागाह भूमि का गलत आवंटन, कार्यवाही का इंतजार... तत्कालीन उपखंड अधिकारी, तहसीलदार सहित अन्य लोग दोषी, उच्च न्यायालय के आदेश पर बनी कमेटी की रिपोर्ट * प्रतापगढ़ / छोटीसादड़ी - तीन लाख की लूट का मामला, जावद पुलिस ने छोटीसादड़ी के दो आरोपी को गिरफ्तार, लूट की रकम और बाइक जब्त * चित्तौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - ट्रेन की चपेट में आने से दो महिलाओं सहित तीन की मौत, देवरे पर धोक देकर आ रहे थे * सुपर फास्ट ट्रेन की चपेट में आने से दो महिलाओं सहित तीन की मौत * चित्तौड़गढ़ - अभय कंडारा की मौत का मामला, पांच महिलाओं सहित नो गिरफ्तार * चित्तौड़गढ़ - निंबाहेड़ा के लक्ष्मीपुरा से नारकोटिक्स नीमच ने पकड़ा लाखों का डोडा चूरा * प्रतापगढ़ / छोटीसादड़ी - नाले की भूमि पर अवैध निर्माण का मामला, संभागीय आयुक्त को हुई शिकायत * चित्तौड़गढ़ / निम्बाहेड़ा - एमपी के उज्जैन पुलिस की कार्रवाई सटोरिया से 15 करोड रुपए कैश जप्त , निंबाहेड़ा का एक आरोपी भी गिरफ्तार * चित्तौड़गढ़ - लापरवाही.... जिंदगी की रेस में फेल, लेकिन लाइसेंस बनाने में 'सिस्टम' का दुरुपयोग, 95 प्रतिशत हो रहे पास * चित्तौड़गढ़ / बड़ीसादड़ी - तालाब में मिट्टी का अवैध खनन, नगर पालिका ने नहीं दिया ठेका, उपखंड अधिकारी ने शुरू की जांच * चित्तौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - साहब जी झूठ तो मत बोलो ! तहसील कार्यालय से लोगों को मिल रही गलत सूचना

रोहित रेगर

सीधा सवाल। छोटीसादड़ी। कहा जाता है कि यदि कोई जहर धीरे-धीरे लोगों को दिया जाए तो लोगों को उसकी आदत हो जाती है। ऐसा ही कुछ छोटीसादड़ी क्षेत्र के लोगों के साथ हुआ है। जहां अलग-अलग मार्ग से धीरे-धीरे कर राजस्थान सरकार की राज्य पथ परिवहन निगम सेवा की रोडवेज बसों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। हालत यह है कि इस क्षेत्र के लोग अपने आवागमन के लिए या तो खुद के साधन अथवा निजी बसों पर पूरी तरह से निर्भर है। बड़ीसादड़ी-उदयपुर मार्ग पर छोटीसादड़ी होते हुए जाने वाली रोडवेज बसें किसी समय में इस क्षेत्र के लोगों की उदयपुर तक सीधी पहुंच बनती थी। लेकिन धीरे-धीरे चित्तौड़गढ़ और प्रतापगढ़ डिपो की बेरुखी के चलते एक और जहां यह क्षेत्र सरकारी आवागमन की दृष्टि से पूरी तरह से बेसहारा हो गया। वहीं, दूसरी ओर निजी बस संचालकों की मनमानी का शिकार होने के लिए लोग मजबूर हो गए। लगातार जनप्रतिनिधियों को शिकायत देने के बावजूद अब तक रोडवेज बस के संचालक को लेकर कोई पहल नहीं की गई है।

जनप्रतिनिधियों से गुहार अब मांग पूरी होने की आस

चित्तौड़गढ़ और प्रतापगढ़ के बीच बसा यह बड़ा कस्बा इसलिए भी उपेक्षा का शिकार है क्योंकि विधानसभा के लिहाज से छोटीसादड़ी चित्तौड़गढ़ जिले की निंबाहेड़ा विधानसभा में आता है। वहीं जिले के लिहाज से इस परिसीमन में प्रतापगढ़ जिले में शामिल किया गया है। ऐसी स्थिति में दो जिलों के जनप्रतिनिधियों के बीच छोटीसादड़ी के लोग फंस कर रह गए हैं। प्रतापगढ़ डिपो द्वारा यहां बसों का संचालन नहीं किया जा रहा है। वही चित्तौड़गढ़ डिपो भी इस रूट पर कोई खास रुझान नहीं दिख रहा है। हालांकि कई बार लोगों ने जनप्रतिनिधियों से गुहार भी लगाई है, लेकिन इसका कोई नतीजा नहीं निकला। अब सरकार बदलने के बाद निंबाहेड़ा विधायक श्रीचंद कृपलानी ने इस बारे में आश्वासन दिया है कि जल्द ही इस क्षेत्र को बस की सुविधा मिलेगी। ऐसे में लोगों को आस बंदी है कि लंबे समय से अपेक्षा की शिकार हो रही छोटीसादड़ी क्षेत्र की जनता को अब राहत मिल पाएगी।

निजी बस संचालकों की मनमानी जेब पर भारी

छोटीसादड़ी क्षेत्र के लोग कई मामलों में सुविधाओं के उदयपुर की ओर रुख करते हैं जिसमें चिकित्सा सेवा अत्यधिक महत्वपूर्ण है। क्षेत्र में चिकित्सा के लिए सरकारी क्षेत्र में विशेष सुविधा नहीं है। ऐसे में लोग उदयपुर जाते हैं। लेकिन साधन के अभाव में एक और जहां निजी बस संचालक मनमाना किराया वसूल करते हैं। वही लोग ऐसी स्थिति में जाने से परहेज करते हैं। इसी के साथ दूसरी ओर बेहतर चिकित्सा सुविधाओं के लिए लोग निजी अस्पतालों की और जाने को मजबूर है। ऐसे में इस क्षेत्र के लोगों पर दोहरी मार पड़ रही है और ऐसी स्थिति में राज्य सरकार की कई महत्वपूर्ण योजनाओं का लाभ भी इन्हें नहीं मिल पा रहा है। रोडवेज प्रबंधन की बेरुखी लोगों की जेब पर बहुत भारी पड़ रही है और इसी के चलते सरकारी सुविधाओं से भी लोगों को वंचित होना पड़ रहा है।

साधन के अभाव में विद्यार्थी भी हो रहे परेशान

रोड़वेज बसें बंद होने से यात्रियों के साथ-
साथ रोजाना आने-जाने वाले विद्यार्थियों को
भी अधिक किराया देकर सफर करना पड़
रहा है। विद्यार्थियों ने बताया कि बसें नही
होने से रोजाना परेशानियों का सामना करना
पड़ता है और निजी बसों में अधिक किराया
देकर कॉलेज जाना पड़ रहा है। विद्यार्थियों ने
रोड़वेज बसों का संचालन शीघ्र करने की मांग की है।

यह रोडवेज बसें है बंद

उदयपुर से 6 बजे चलने वाली बस जो वाया डूंगला, मंगलवाड, बड़ीसादड़ी, छोटीसादड़ी तक संचालित होती थी। वहीं उदयपुर से दोपहर 2 बजे वाया मंगलवाड, बड़ीसादड़ी, छोटीसादड़ी, प्रतापगढ़ तक और राजसमंद से प्रतापगढ़ जाने जाने वाली वाया कपासन, सांवलियाजी, निकुंभ चौराहा, निंबाहेड़ा, छोटीसादड़ी और प्रतापगढ़ तक संचालित होती थी। इससे पहले रतलाम से चितौड़गढ़ रोडवेज बस संचालित हो रही थी लेकिन इस बस को भी रतलाम से प्रतापगढ़ तक ही संचालित किया जा रहा है। जो कई महीनों से बंद होने के कारण यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ रही है। इससे लोगों को जीप और अन्य साधनों में जान जोखिम में डालकर सफर करने को मजबूर हैं। यात्रियों ने शीघ्र बसों का संचालन शुरू करने की मांग की है।

विभाग की उदासीनता, बसों का नही हो पा रहा संचालन

यात्रियों ने बताया कि रोडवेज डिपो की उदासीनता के चलते उदयपुर, मंगलवाड, डूंगला, बड़ीसादड़ी, छोटीसादड़ी तक 130 किलोमीटर का सबसे बड़ा मार्ग होने के बावजूद भी इस मार्ग पर कई गांव के लोग रोडवेज बस में यात्रा करते हैं। ऐसे में रोडवेज विभाग के उच्च अधिकारियों के ढुलमुल रवैया से इस मार्ग पर पिछले कई सालों से चली आ रही बसों को भी विभाग धीरे-धीरे बसें बंद कर दी। इससे यात्रियों में रोडवेज विभाग के प्रति भारी रोष व्याप्त है। वहीं उदयपुर अस्पताल में इलाज के लिए जाने वाले मरीज बसों के इंतजार में बस स्टैंड पर बैठे ही रह जाते हैं और उन्हें अधिक राशि देकर प्राइवेट बसों और अन्य साधनों में यात्रा करना मजबूरी बनी हुई है।


इनका कहना है...

रोडवेज बसों का संचालक को लेकर आचार संहिता के बाद व्यवस्था सुचारू की जाएगी और नई बसों का संचालन किया जाएगा। जिससे क्षेत्र के लोग लाभान्वित हो सके।

श्रीचंद कृपलानी, विधायक निंबाहेड़ा-छोटीसादड़ी


इनका कहना है..

अभी बसों की कमी है। जो रूट है, वो भी सही से नही चल पा रहे हैं। उसमें भी परेशानी आ रही है। नई बसों के लिए विभाग को लिखा है, नई बसे मिलने के बाद संचालन किया जाएगा। जिसके बाद यात्रियों को परेशानी नही होगी।

विष्णु कुमार वर्मा, डिपो मैनेजर प्रतापगढ़


What's your reaction?