इतिहास के पन्नों में 24 मार्चः इसलिए कानपुर को कहते हैं उत्तर प्रदेश की वाणिज्यिक राजधानी
हर खबर की विश्वसनीयता का आधार " सीधा सवाल ", 10 हजार से अधिक डाउनलोड के लिए सभी का आभार। सूचना, समाचार एवं विज्ञापन के लिए संपर्क करे - 9602275899, 9413256933

चित्तौड़गढ़ - न्यायालय के आदेश पर इंश्योरेंस ऑफिस में हुई कुर्की की कार्यवाही

  • बड़ी खबर

चित्तौड़गढ़ / निम्बाहेड़ा - दो एटीएम तोड़ लूट का प्रयास, एक में थी 19 लाख की नकदी, एक युवक चढ़ा हत्थे

  • बड़ी खबर

प्रतापगढ़ / छोटीसादड़ी - प्रेमी युगल ने फांसी लगा दी जान, एक ही पेड़ से लटकते मिले दोनों के शव

  • बड़ी खबर

चित्तौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - 28 वाहनों में परिवहन किया जा रहा 300 से ज्यादा गोवंश मुक्त करवाया, कृपलानी के हस्तक्षेप के बाद हुई कार्रवाई

  • बड़ी खबर
प्रमुख खबरे
* चित्तौड़गढ़ - न्यायालय के आदेश पर इंश्योरेंस ऑफिस में हुई कुर्की की कार्यवाही * चित्तौड़गढ़ / निम्बाहेड़ा - दो एटीएम तोड़ लूट का प्रयास, एक में थी 19 लाख की नकदी, एक युवक चढ़ा हत्थे * प्रतापगढ़ / छोटीसादड़ी - प्रेमी युगल ने फांसी लगा दी जान, एक ही पेड़ से लटकते मिले दोनों के शव * चित्तौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - 28 वाहनों में परिवहन किया जा रहा 300 से ज्यादा गोवंश मुक्त करवाया, कृपलानी के हस्तक्षेप के बाद हुई कार्रवाई * जयपुर / चित्तौड़गढ़ - भीषण सड़क हादसे में चार की मौत, जयपुर- दूदू नेशनल हाईवे पर हुआ हादसा, मृतकों में तीनों कार सवार निंबाहेड़ा के निवासी * चित्तौड़गढ़ - भादसोड़ा के पास ढाबे पर मिक्सी में चूरा कर बेच रहा था डोडा, कोटा नारकोटिक्स ने दी दबिश - 111 किलो से ज्यादा डोडा चूरा पकड़ा * चित्तौड़गढ़ - वन विभाग ने काम तो करवाया लेकिन नहीं किया लाखों का भुगतान, अब मजदूरी के लिए भटक रहे श्रमिक * चित्तौड़गढ़ - नारकोटिक्स ने निंबाहेड़ा के पास पकड़ी 11 किलो से ज्यादा अफीम * चित्तौड़गढ़ / बेंगू - पांच हजार रुपये रिश्वत लेते पटवारी रंगे हाथों गिरफ्तार * प्रतापगढ़ / छोटीसादड़ी - दो बाइक की आमने-सामने भिंड़त, दो कांस्टेबल सहित पांच युवक गंभीर घायल, चार रेफर * चित्तौड़गढ़ / कपासन - नीम के पेड़ पर फंदा लगा युवक ने की आत्महत्या * चित्तौड़गढ़ - कुरेठा में पहाड़ी के पास स्थित धर्मशाला में घोड़ी दाना पर दांव लगाते आठ गिरफ्तार, सवा दो लाख की नकदी पकड़ी * चित्तौड़गढ़ - रावतभाटा पालिका उपाध्यक्ष सहित 6 पार्षदों को कांग्रेस पार्टी ने किया निष्कासित * चित्तौड़गढ़ - सरकारी जमीन पर नमाज अदा करने की तैयारी पर माहौल गरमाया, दोनों समुदाय से जुड़े संगठन पहुंचे कोतवाली * चित्तौड़गढ़ - पाली जाते दुर्घटना का शिकार हुआ हैदराबाद का परिवार, एक की मौत, छह घायल
हर खबर की विश्वसनीयता का आधार " सीधा सवाल ", 10 हजार से अधिक डाउनलोड के लिए सभी का आभार। सूचना, समाचार एवं विज्ञापन के लिए संपर्क करे - 9602275899, 9413256933
प्रमुख खबरे
* चित्तौड़गढ़ - न्यायालय के आदेश पर इंश्योरेंस ऑफिस में हुई कुर्की की कार्यवाही * चित्तौड़गढ़ / निम्बाहेड़ा - दो एटीएम तोड़ लूट का प्रयास, एक में थी 19 लाख की नकदी, एक युवक चढ़ा हत्थे * प्रतापगढ़ / छोटीसादड़ी - प्रेमी युगल ने फांसी लगा दी जान, एक ही पेड़ से लटकते मिले दोनों के शव * चित्तौड़गढ़ / निंबाहेड़ा - 28 वाहनों में परिवहन किया जा रहा 300 से ज्यादा गोवंश मुक्त करवाया, कृपलानी के हस्तक्षेप के बाद हुई कार्रवाई * जयपुर / चित्तौड़गढ़ - भीषण सड़क हादसे में चार की मौत, जयपुर- दूदू नेशनल हाईवे पर हुआ हादसा, मृतकों में तीनों कार सवार निंबाहेड़ा के निवासी * चित्तौड़गढ़ - भादसोड़ा के पास ढाबे पर मिक्सी में चूरा कर बेच रहा था डोडा, कोटा नारकोटिक्स ने दी दबिश - 111 किलो से ज्यादा डोडा चूरा पकड़ा * चित्तौड़गढ़ - वन विभाग ने काम तो करवाया लेकिन नहीं किया लाखों का भुगतान, अब मजदूरी के लिए भटक रहे श्रमिक * चित्तौड़गढ़ - नारकोटिक्स ने निंबाहेड़ा के पास पकड़ी 11 किलो से ज्यादा अफीम * चित्तौड़गढ़ / बेंगू - पांच हजार रुपये रिश्वत लेते पटवारी रंगे हाथों गिरफ्तार * प्रतापगढ़ / छोटीसादड़ी - दो बाइक की आमने-सामने भिंड़त, दो कांस्टेबल सहित पांच युवक गंभीर घायल, चार रेफर * चित्तौड़गढ़ / कपासन - नीम के पेड़ पर फंदा लगा युवक ने की आत्महत्या * चित्तौड़गढ़ - कुरेठा में पहाड़ी के पास स्थित धर्मशाला में घोड़ी दाना पर दांव लगाते आठ गिरफ्तार, सवा दो लाख की नकदी पकड़ी * चित्तौड़गढ़ - रावतभाटा पालिका उपाध्यक्ष सहित 6 पार्षदों को कांग्रेस पार्टी ने किया निष्कासित * चित्तौड़गढ़ - सरकारी जमीन पर नमाज अदा करने की तैयारी पर माहौल गरमाया, दोनों समुदाय से जुड़े संगठन पहुंचे कोतवाली * चित्तौड़गढ़ - पाली जाते दुर्घटना का शिकार हुआ हैदराबाद का परिवार, एक की मौत, छह घायल

देश-दुनिया के इतिहास में 24 मार्च की तारीख तमाम अहम वजह से दर्ज है। यह तारीख उत्तर प्रदेश के प्रमुख शहर कानपुर के लिए खास है। कभी भारत का मैनचेस्टर रहा कानपुर कल 24 मार्च को 221 साल का हो जाएगा। इस दौरान इस शहर ने लंबी यात्रा तय की । दस साल पहले जिला प्रशासन ने विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया था। तत्कालीन डीएम रौशन जैकब ने 211 पाउंड का केक काटकर इस दिन को उत्सव के रूप में मनाया था। 24 मार्च 1803 को ईस्ट इंडिया कंपनी ने इसे जिला घोषित किया था। गंगा नदी के किनारे बसे कानपुर की पहचान प्रसिद्ध औद्योगिक नगरी के रूप में रही है। यहां लाल इमली, म्योर मिल, एल्गिन मिल, कानपुर कॉटन मिल और अथर्टन मिल जैसी कई विश्व प्रसिद्ध कपड़ा मिलें खुलीं। इस वजह से कानपुर को भारत का मैनचेस्टर कहा जाने लगा। बाद में कुछ कारणों से एक-एक कर मिलें बंद हो गईं और कानपुर की जगह अहमदाबाद भारत का मैनचेस्टर बन गया। आज भी कानपुर में बने चमड़े का सामान पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। 1857 ईस्वी के गदर में कानपुर का विशेष महत्व रहा है।




माना जाता है कि इस शहर की स्थापना सचेन्दी राज्य के राजा हिन्दू सिंह ने की थी। कानपुर का मूल नाम 'कान्हपुर' था। कानपुर की उत्पत्ति का सचेंदी के राजा हिन्दू सिंह से अथवा महाभारतकाल के वीर कर्ण से संबद्ध होना चाहे संदेहात्मक हो पर इतना प्रमाणित है कि अवध के नवाबों के शासनकाल के अंतिम चरण में यह नगर पुराना कानपुर, पटकापुर, कुरसवां, जूही और सीमामऊ गांवों के मिलने से बना था। पड़ोस के प्रदेश के साथ इस नगर का शासन भी कन्नौज और कालपी के शासकों के हाथों में रहा और बाद में मुसलमान शासकों के। अवध के नवाब अलमास अली के शासन को यहां के इतिहासकार सबसे अच्छा मानते हैं।1773 की संधि के बाद यह नगर अंग्रेजों के शासन में आया। फलस्वरूप 1778 ईस्वी में यहां अंग्रेज छावनी बनी। सबसे पहले ईस्ट इंडिया कंपनी ने यहां नील का व्यवसाय प्रारंभ किया था। 1832 में ग्रैंड ट्रंक सड़क के बन जाने पर यह नगर इलाहाबाद से जुड़ा। 1864 में लखनऊ, कालपी आदि मुख्य स्थानों से सड़कों के जरिये इसे जोड़ा गया। इसके बाद ऊपरी गंगा नहर का निर्माण भी कराया गया।



पहले के समय में फलते-फूलते कपड़ा उद्योग के कारण भारत के मैनचेस्टर के रूप में प्रसिद्ध रहे कानपुर को अब उत्तर प्रदेश की वाणिज्यिक राजधानी भी कहा जाता है। आजादी के बाद भी कानपुर ने तरक्की की। यहां आईआईटी खुला। ग्रीन पार्क इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम बना। ऑर्डिनेंस फैक्टरी स्थापित की गई।इस सबके बाद कानपुर का परचम दुनिया में फहराने लगा। मगर 221 साल के लंबे सफर में कहीं कानपुर की गाड़ी शायद पटरी से उतर गई। सिविल लाइंस स्थित लाल इमली मिल का हाल किसी से छुपा नहीं है। लाल इमली की घड़ी जो लंदन के बिग बेन की तर्ज पर बनी थी, कभी कानपुर का चेहरा हुआ करती थी।


What's your reaction?